कमजोरी की होम्योपैथिक दवा – Kamjori Ki Homeopathic Dawa

कमजोरी की होम्योपैथिक दवादोस्तो काम के कारण और खान-पान की वजह से आज कल हम शारीरिक (physical) व मानसिक (mental) कमजोरी समस्याएं से जुंझ रहे हैं। इन समस्याओं ने हर उम्र के लोगों को अपनी चपेट में लिया हुआ है और इन समस्याओं के चलते न आदमी अपना काम ध्यान कर सकता और न स्वस्थ रह पाता है। ऐसे में यदि शारीरिक और मानसिक कमजोरी की होम्योपैथिक दवा की समस्याओं से परेशान हैं।

दोस्तों थकान हमें बहुत सी चीजों की कमी के कारण होती है जैसे मिनरल्स, प्रोटीन्स, कार्ब्स, विटामिन इन सभी की कमी के कारण हमारी शरीर में थकान होते हैं। इन सब की कमी थी इसलिए होती है क्योंकि कभी हम कार्ब्स ज्यादा ले लेते हैं तो कभी मिनरल्स तो कभी प्रोटीन्स. जिस प्रकार हमे हेल्दी खाना खाना चाहिए उस प्रकार हम खाना नहीं खाते हैं और दुआरा कारण यह है कि हमारे शरीर का खाना अच्छे से पचता का नहीं है इस कारण से भी हमारे शरीर को भरपूर मात्रा में प्रोटीन विटामिन, कार्ब्स नहीं मिल पाते हैं। 

कमजोरी की होम्योपैथिक दवा – Kamjori Ki Homeopathic Dawa – Weakness

Homeopathic Medicine

कमजोरी की होम्योपैथिक दवा

Kamjori Ki Homeopathic Dawa

कमजोरी की होम्योपैथिक दवा उदाहरण (Example)-

दोस्तो जैसे हमे एनीमिया हो जाता है उस condition में अगर हमारा हीमोग्लोबिन 10% से कम हो जाता है तो इस अवस्था को हम एनीमिया कहते है इसमे सबसे पहला लक्षण (symptoms) होता है थकावट ओर कमजोरी ओर सुस्तपन। अब आपका हीमोग्लोबिन क्यों काम हुआ क्योंकि आपका आयरन कम हो जाता है। दोस्तो अब आपका आयरन क्यों काम होता है क्योंकि या तो आप आयरन कम कहा रहे है या आपके शरीर मे आयरन absorve ही नही ही रहा है। ऐसे ही कमजोरी की होम्योपैथिक दवा के कारण होते आपका खाना काम खाना या जंक फ़ूड खाना या आपका शरीर का absorve न कर पाना।

 

तो चाहिए अगर आपने जान लिया है यह आपकी कमजोरी की वजह क्या है तो उसी के अनुसार हम एक मात्र कमजोरी की होम्योपैथिक दवा के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप आपके शरीर की सारी कमियों को दूर कर सकते हैं।

अल्फा-अल्फा टॉनिक (alfalfa tonic) – अल्फा- अल्फा टॉनिक के अंदर एसिड फोस पाया जाता है जो आपकी कमजोरी की होम्योपैथिक दवा  , सुस्तपना, थकावट को दूर करता है। दोस्तो अल्फा एक तरह का घास होता है पर यह बहुत ही उपयोगी घास होता है जिसके अर्क से आपको बहुत अच्छे कार्ब्स, मिनरल्स, प्रोटीन, पूरे विटामिन मिल जाएंगे। यह शरीर मे मास ओर फैट बढ़ाता है. आयरन पाचन क्रिया के लिए बहुत आवश्यक घटक होता है और मानव शरीर को लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करने के लिए आयरन की आवश्यकता होती है। यह muscles की स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही अच्छा तत्व है। यह muscles के tissues में पाया जाता है और muscles के contraction के लिए आवश्यक ऑक्सीजन के source को प्रदान करने में सहायता होता है। आयरन के बिना, muscles की बनाबट और elasticity नष्ट हो जाती है। शरीर के आयरन की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अल्फाल्फा का सेवन आवश्यक है क्योंकि इसमें 0.96 एमजी आयरन शामिल है जो कि दैनिक रूप का 12% है।

 

संरचना (Composition) : 

  • Alfalfa    Q
  • Avena sativa    Q
  • Ginseng    Q
  • Cinchona officinalis    Q
  • Hydrastis canadensis    Q
  • Kali phosphoricum    3x
  • Kali arsenicosum    6x
  • Ferrum aceticum    3x
  • Calcarea phosphorica    3x

 

खुराक (Dosage) : 

  • बडे (Adult) : 10ml,
  • बच्चे (Children) : 5ml

 

कब लेना है- 3 बार खाना खाने से पहले.

 

For Homeopathic Learning Follow Our Blog .

Updated: June 4, 2020 — 10:06 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.