जबान के छालो की होम्योपैथिक दवाइयां – mouth ulcer medicine name – ulcer mouth

जबान के छालो की होम्योपैथिक दवाइयां – mouth ulcer medicine name – ulcer mouth

mouth ulcer medicine name –  दोस्तो, जीभ हमारे शरीर का एक कोमल हिस्सा होती है। आमतौर पर इसकी अधिक देखभाल नही की जाती है। जब जीभ के दांतों से कटने, चोट लगने या अन्य विभिन्न कारणों से जीभ पर छोटे-छोटे घाव जैसे छाले उभर आते है। तो इसे जीभ का छाला कहा जाता है। ये छाले जीभ के अलावा मुँह को भी प्रभावित करते है।

जीभ पर छाले हो जाने से व्यक्ति को खाने-पीने में परेशानी होती हैं। इस दौरान मसालेदार खाघ सामग्री खाने से जीभ पर जलन अधिक बढ़ जाती है। जीभ के छाले आसानी से ठीक नही हो पाते हैं और इन्हें अपने आप अपने ठीक होने में काफी समय लग जाता हैं। आज हम आपको छाले होने के कारण ओर जीभ के छालो की होम्योपैथिक दवाइयों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप जीभ के छालों से छुटकारा पा सकते है। mouth ulcer medicine name

mouth ulcer medicine name  जबान के छालो की होम्योपैथिक दवाइयां

1- आर्सेनिकम एलबम (Arsenicum Album) 6,30 – mouth ulcer medicine name

a- जवान पर छाले, छालों में आग की तरह जलन।

b- मुँह अंदर से सूखा और गर्म।

c- गर्म पानी मुंह में रखने पर जलन और दर्द में आराम आ जाता है।

 

दवाई कैसे ले-

“आर्सेनिकम एलबम” की 6 या 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

2- एपिस मेल. (Apis Mel.) 6,30 – mouth ulcer medicine name

a- एपिस मेल की जबान आग की तरह लाल, जबान पर छाले होते है।

b- रोगी को ऐसा लगता है कि जबान जल गई हो।

c- मुँह, जबान, गला सुखा, फिर भी रोगी को प्यास नही लगती।

 

दवाई कैसे ले-

“एपिस मेल.” की 6 या 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

3- नैट्रम मुर (Natrum Mur.) 30 – ulcer mouth

a- रोगी की जबान पर छाले, विशेषकर जबान की नोक पर होते है।

b- रोगी को छालो में बहुत दर्द होता हो।

 

दवाई कैसे ले –

“नैट्रम मुर.” की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

4- केन्थेरिस कैंथ. (Cantharis Canth.) 30 – mouth ulcer medicine name

a- जबान पर छाले वा किनारे लाल होते है।

b- रोगी को जबान पर जलन, मुँह और गले मे जलन होती है।

 

दवाई कैसे ले-

“केन्थेरिस कैंथ.” की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

5- नाइट्रिक एसिड (Nitric Acid) 30 – ulcer mouth

a- रोगी को जवान के किनारों छाले होते है।

b- छालो में कांटा चुभने जैसा दर्द होता है।

c- रोगी को बहुत ज्यादा लार निकलती है।

d- रोगी के पेशाब में घोड़े के पेशाब जैसी बदबु आती हो तो यह दवा लाभदायक है।

 

दवाई कैसे ले-

“नाइट्रिक एसिड” की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

6- रक्स टॉक्स (Rhux tox) 30 – mouth ulcer medicine name

a- जबान लाल, कटी-फटी, छालो से भरी हुई हो तो यह दवा लाभदायक है।

b- रोगी के जवान के अगले हिस्से पर लाल तिकोना निशान रहता है।

 

दवाई कैसे ले-

“रक्स टॉक्स” की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

7- मर्क. सोल. (Merc. Sol.) 6, 30 – ulcer mouth

a- रोगी के जबान पर लाल रंग के छाले होते है।

b-  रोगी की जवान फूली हुई, जबान पर दांत के निशान, मुंह से लार बहना और मुंह से बदबू आती है।

 

दवाई कैसे ले-

मर्क. सोल. की 6 या 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

8- फ्लूओरिक एसिड (Fluoric Acid) 6, 30- mouth ulcer medicine name

a- रोगी को जवान के ऊपर और नीचे छाले होते हैं।

b- बातचीत करते समय छालो में बहुत दर्द होता है।

 

दवाई कैसे ले-

“फ्लूओरिक एसिड” की 6 या 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

9- लैकेसिस ट्रिगोनो. (Lachesis Trigono.) 30- ulcer mouth

a- जवान सूजी हुई सुखी और छालों से भरी हुई होती है।

b- रोगी की नोक पर छाले होते हैं।

c- रोगी के मुंह से बदबू आती है।

 

दवाई कैसे ले-

लैकेसिस ट्रिगोनो की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

10- नक्स वोमिका (Nux Vomica) 30- mouth ulcer medicine name

a- रोगी का पेट खराब रहता है। तथा जबान पर छोटे-छोटे दर्द भरे छाले होते हैं।

b- रोगी के जवान के पिछले हिस्से पर मोटी तह, अगला हिस्सा साफ रहता है।

 

दवाई कैसे ले-

“नक्स वोमिका” की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

11- बेलाडोना (Belladonna) 30- ulcer mouth

a- रोगी को जवान की नोक पर दर्द भरे छाले होते हैं।

 

b- रोगी के जवान फूली हुई, स्ट्रॉबेरी जैसी लाल। मुंह सुखा, लेकिन प्यार नहीं होती है। 

 

दवाई कैसे ले-

“बेलाडोना” की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

जबान के छालो की बायोकैमिक दवाईया – mouth ulcer medicine name

 

1- कलियम मुरियाटिकम (Kalium Muriaticum) 3X,6X,12X – ulcer mouth

a- यह छालो की प्रमुख दवा है।

b- मुंह के अंदर सफेद रंग के छोटे-छोटे जख्म भरे छाले रहते हैं।

b- मुंह से सफेद सूत जैसी लार निकलती है। जवान पर सफेद लेप रहता है।

 

दवाई कैसे ले-

“कलियम मुरियाटिकम” की 3X,6X या 12X शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

2- नैट्रम मुरियाटिकम 3X,6X – mouth ulcer medicine name

a- रोगी को होठ, मुंह के कोने और जबान पर पानी भरे छाले होते है।

b- मुंह से बहुत ज्यादा लार निकलती है। रोगी को कब्ज रहती है।

 

दवाई कैसे ले- 

“नैट्रम मुरियाटिकम” की 3X या 6X शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

3- नैट्रम फोस्फोरिकम (Natrum Phosphoricum) 6X- ulcer mouth

a- रोगी को “एसिडिटी” के साथ मुंह में छाले होने होने पर इससे लाभ होता है।

b- रोगी के मुंह के अंदर और जवान पर पतला पीले रंग का लेप रहता है।

c- छालों में पीले रंग की झलक होती है। छालो या जख्म में डंक मारने जैसा दर्द रहता है।

 

दवाई कैसे ले-

“नैट्रम फोस्फोरिकम” की 6X दिन में तीन बार ले।

 

4- कैलकेरिया सल्फुरिका (Calcarea Sulphurica) 6X- 

a- रोगी के होंठ के पिछले भाग में जख्म हो मुंह से बदबू आती हो।

b- जवान के पिछले भाग पर मटमैला या पीला लेप रहता हो तो दवा से लाभ मिलता है।

 

दवाई कैसे ले-

“कैलकेरिया सल्फुरिका” की 6X शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

5- कलियम फोस्फोरिकम (Kalium Phosphoricum) 6X- ulcer mouth

a- रोगी के मुंह में खाकी रंग के जख्म हो, मुंह से बदबू आती हो.

b-लार बहुत निकलती हो तो यह दवा उपयोगी है।

 

दवाई कैसे ले-

“कलियम फोस्फोरिकम” की 6X शक्ति दिन में दो बार ले।

 

Daad Ke Liye Homeopathic Dawa के बारे में जानकारी के लिए यह लेख पढ़ें.

Chehera Gora karne Ki Tips In Hindi के बारे में जानकारी के लिए यह लेख पढ़ें

Dream11 के बारे में जानकारी के लिए यह लेख पढ़ें

Updated: July 13, 2020 — 6:07 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.