Urine infection in hindi

Urine infection in hindi – Urine infection symptoms in hindi

Urine infection in hindi दोस्तों, पेशाब में जलन को मेडिकल की भाषा मे “Dysuria” कहते है। मूत्राशय से मूत्र ले जाने वाली टयूब या जांघो के आसपास की जगह पर दर्द या जलन महशूस होता है। महिलाओं में पुरुषों के मुकाबले ये समस्या ज्यादा होती हैं। बुढ़ापे में भी यह समस्या ज्यादा होती है। Urine Infection Kyu Hota Hai

पेशाब में जलन के लक्षण – Urine infection in hindi

Urine infection in hindi

Urine Infection Kyu Hota Hai

दोस्तो, वेसे तो पेशाब में जलन भी एक लक्षण है पर इसके साथ अन्य लक्षण देखे जा सकते है, जैसे – Urine infection in hindi

 

1- पेशाब की जगह पर दर्द होना।

2- पेशाब के साथ खून का आना।

3- पेशाब में बदबू या दुर्गंध का आना।

4- उल्टी, मतली, घबराहट भी हो सकता है।

5- पेट मे दर्द की भी समस्या हो सकती है।

6- योनि में खुजली होना।

 

पेशाब में जलन के कारण – Urine infection in hindi

urine infection treatment in hindi at home

urine infection treatment in hindi at home

1- प्रोस्टेट ग्रंथि में संक्रमण।

2- सेक्सुअल ट्रांसमिटेड बीमारी के कारण भी पेशाब में जलन हो सकती है।

3- कैंसर के कारण भी पेशाब में जलन हो सकती है।

4- डायबिटीज मल्लिटस के कारण भी पेशाब में जलन हो सकती है।

5- एक्ज़ीमा और सोरायसिस के बाद भी पेशाब में जलन की समस्या हो सकती है।

6- गर्भस्था के दौरान भी पेशाब में जलन होने की समस्या हो सकती है।

7- किसी सर्जरी के दौरान कैथेटर के उपयोग से भी पेशाब में जलन हो सकती है।

8- गुद्राश्य और मूत्राशय में पथरी के कारण भी पेशाब में जलन हो सकती है।

Also See :nEnteroquinol Tablet Uses In Hindi

पेशाब में जलन की होम्योपैथिक दवाइयां – Urine infection symptoms in hindi

infection in urine in hindi

infection in urine in hindi

1- केन्थेरिस (Cantharis) 30, 200 – 

a- पेशाब में जलन होने की केन्थेरिस बहुत ही बढ़िया दवा है।

b- पेशाब की जलन की दवाओं के बारे में सोचने पर       सबसे पहले केन्थेरिस ही सबसे अच्छी दवाई मानी जाती है।

c- पेशाब करने से पहले पेशाब करते समय और पेशाब कर चुकने के बाद मूत्र नली में जलन होती है।

d- बार-बार पेशाब की इच्छा होती है पेशाब के लिए जोर लगाना पड़ता है लेकिन पेशाब नहीं होती है।

e- बूंद बूंद और जबरदस्त जलन के साथ पेशाब होती है।

f- पेशाब में कभी कभी खून मिला होता है।

 

दवाई कैसे ले- urinary infection in hindi

“केन्थेरिस” की 30 या 200 शक्ति दिन में तीन से चार बार ले।

 

2- बोरेक्स (Borax) 30 – Urine infection symptoms in hindi

a- पेशाब की जलन में बोरेक्स बहुत बढ़िया दवा है।

b- बच्चा बार-बार हर 15 मिनट में पेशाब करता हो तो 

     यह दवा बहुत ही उपयोगी है।

c- हर बार पेशाब करने से पहले बच्चा चीख उठता है।

d- पेशाब गर्म और रहती है। पेशाब करते समय और करने के बाद मूत्र नली में जलन होती है।

 

दवाई कैसे ले-

“बोरेक्स” की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

3- बेलाडोना (Belladonna) 30 –

a- रोगी को पेशाब करते समय ही मूत्रनली में जलन      

    होती है।

b- सिर्फ पेशाब करते समय मूत्र नली में जलन होती है।

c- पेशाब करने से पहले और पेशाब कर चुकने के बाद जलन नहीं हो तो यह दवा उपयोगी है। 

d- बार-बार पेशाब आती है बूंद-बूंद कर होती है कभी-कभी पेशाब में खून भी आता है।

 

दवाई कैसे ले-

“बेलाडोना” 30 शक्ति की दिन में तीन बार ले।

 

4- एपिस मेललिफिका (Apis Mellifica) 6, 30 – urine infection ke lakshan in hindi

a- रोगी को पेशाब करने से पहले मूत्र नली में बहुत जलन होती है।

b- पेशाब करने से पहले, पेशाब करते समय, पेशाब हो जाने के बाद, मूत्रनली में जलन होती है लेकिन सबसे ज्यादा जलन पेशाब करने से पहले होती है।

c- पेशाब जल्दी जल्दी होती है लेकिन सिर्फ कुछ बूंदे ही निकलती है पेशाब लगने पर 1 मिनट के लिए भी उसे रोक नहीं पाता है। अगर आपको ऐसी समस्या है तो यह दवा उपयोगी है।

 

दवाई कैसे ले-

“एपिस मेललिफिका” की 6 या 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

5- मेरकुरीयस कोर (Mecurius Cor.) 6, 30 – urine infection ke lakshan in hindi

a- रोगी को पेशाब की बार-बार इक्छा होती है।

b- पेशाब गर्म और बड़ी तकलीफ के साथ बूंद-बूंद निकलती है।

c- पेशाब करने से पहले और पेशाब करते समय मूत्रनली में जलन होती है।

 

दवाई कैसे ले-

“मेरकुरीयस कोर” की 6 या 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

6- बर्बेरिस वल्गेरिस (Berberis Vulgaris) 6 – urine infection ke lakshan in hindi

a- रोगी को पेशाब कि बार-बार इच्छा होती है।

b- पेशाब करने से पहले, पेशाब करते समय, पेशाब कर चुकने के बाद मूत्र नली में जलन होती है।

c- पेशाब कर चुकने के बाद रोगी को ऐसा लगता है कि मूत्राशय में अभी थोड़ा सा पेशाब अभी बाकी है पेशाब करते समय कमर और जांघो में दर्द होता है।

 

दवाई कैसे ले- urinary infection in hindi

“बर्बेरिस वल्गेरिस” की 6 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

7- तेरेबिनथिना ओलेयम (Terebinthina Oleum) 6 – urine infection ke lakshan in hindi

a- रोगी को पेशाब करते समय मूत्रशय और मूत्रनली में जलन होती है।

b- पेशाब बूंद-बूंद होती है।

c- पेशाब धुंए जैसा गंदला और पिसी हुई कॉफी की तरह जमाववाला होता है।

d- पेशाब में कभी-कभी खून मिला होता है। पेशाब में बनशपा (Violet) जैसी मीठी सी गंध आती है।

 

दवाई कैसे ले- urinary infection in hindi

“तेरेबिनथिना ओलेयम” की 6 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

8- नक्स वोमिका (Nux-Vomica) 30 – urine infection ke lakshan in hindi

a- रोगी को बार-बार पेशाब ओर पाखाने जाने की इच्छा होती है।

b- पेशाब करने से पहले, पेशाब करते समय और पेशाब करने के बाद मूत्र नली में जलन होती है।

c- ज्यादा जलन पेशाब करते समय होती है।

d- पेशाब कर चुकने के बाद जलन कम हो जाती है या बहुत ही कम होती है।

 

दवाई कैसे ले- urine infection kyu hota hai

” नक्स वोमिका” की 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

9- नाइट्रिक एसिड (Nitric Acid) 30 – Urine infection in hindi

a- रोगी को पेशाब करने से पहले, पेशाब करते समय और पैसा करने के बाद मूत्रनली में जलन होती है।

b- पेशाब करते समय मूत्र नली में तेज जलन होती है। c- रोगी को पेशाब में घोड़े के पेशाब जैसी गंध आती है।

 

दवाई कैसे ले-

“नाइट्रिक एसिड” की 30 शक्ति दिन में दो बार ले।

 

10- सारासपरिल्ला (sarasparilla) 6 – urine infection ke lakshan in hindi

a- रोगी को बार बार पेशाब की इच्छा होती है लेकिन पेशाब बहुत थोड़ा होता है।

b- पेशाब करने से पहले या पेशाब करते समय जलन नहीं होती है बल्कि पेशाब करना समाप्त होते समय मूत्र नली में जलन होती है।

c- पेशाब गंदला होता है और सफेद रेत की तरह जम जाता है पेशाब करने से पहले या पेशाब करते समय बच्चा तकलीफ के कारण बहुत चिल्लाता है।

 

दवाई कैसे ले- urinary infection in hindi

“सारासपरिल्ला” की 6 शक्ति दिन में तीन बार ले।

 

11- स्टाफायसेगरिया (Staphysagria) 6, 30 – urine infection ke lakshan in hindi

a- रोगी को बार बार पेशाब की इच्छा होती है।

b- पेशाब करते समय और पेशाब करने के बाद पेशाब में जलन होती है। पेशाब करने से पहले जलन नहीं होती है कभी-कभी पेशाब करने के बाद जलन रुक जाती है।

c-नई-नई शादी हुई लड़कियों को पति के साथ संबंध के बाद अक्सर बार-बार पेशाब की हाजत होती है, पेशाब थोड़ा-थोड़ा उतरता है और बहुत देर तक बैठना पड़ता है और पेशाब में जलन होती है।

 

दवाई कैसे ले- Urine infection in hindi

“स्टाफायसेगरिया” की 6 या 30 शक्ति दिन में तीन बार ले।

Note :

दोस्तों आज हमने आपको Urine infection in hindi , Urine infection symptoms in hindi और urine infection ke lakshan in hindi के बारे में जानकारी दी अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो कृपया कमेंट सेक्शन पर अपना समर्थन दें और अगर आपको इसमें कुछ सुधार समझ आता है तो वह भी हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं हमारे अन्य ब्लॉक जानकारी चाइये तो हमारा ये ब्लॉग फॉलो करे।

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *