panchatikta ghrita guggulu uses in hindi

panchatikta ghrita guggulu uses in hindi पंचतिक्त घृत गुग्गुल के उपयोग –

panchatikta ghrita guggulu uses in hindi  एक क्लासिकल   आयुर्वेदिक मेडिसिन है , जिसका उपयोग सभी प्रकार के छोटे बड़े पुराने एग्जिमा, अर्ली प्रोसेस हर तरह के चर्म रोग को दूर करने वाली दवा है । वात रक्त , गठिया ,  ट्यूमर ,  ग्लाइंड जैसी बीमारियों में भी इससे फायदा मिलता है । पंचतिक्त घृत गुग्गुल घी के रूप में एक दवा है । panchatikta ghrita guggulu uses in hindi एक तरह की मेडिकेटेड घी वाली दवा है । panchatikta ghrita guggulu uses in hindi औषधि का मुख्य रूप से उपयोग त्वचा के रोगों में किया जाता है ।

 

panchatikta ghrita guggulu, पंचतिक्त घृत गुग्गुल के घटक –

panchatikta ghrita guggulu uses in hindi में 5 तरह की कड़वी जड़ी बूटियां मिली रहती हैं , इसमें और भी बहुत सारी जड़ी बूटियां मिली रहती हैं , लेकिन यह पांच जड़ी बूटियां बहुत खास होती  हैं ।नीम की छाल,  गिलोय, वासा ,  वृष , पटोल पत्र और छोटी कटेली  प्रत्येक घटक 400 ग्राम , पानी 25 लीटर,  गाय का घी 1280 ग्राम,  शुद्ध गुग्गुल 200 ग्राम,   पाठा , सौंठ ,  हल्दी , सौंफ, काली मिर्च , जीरा , चित्रक , मूल छाल , हर्रा बहेड़ा , आंवला,  अजवाइन , देवदारु , विडंग , गज पिप्पली ,यवक क्षर, चव्य , कूठ , मालकांगनी, कुटज, चित्रक, कुटकी , शुद्ध भिलावा , रसना , यवनी , अतिविश, अतीस  प्रत्येक को 10-10 ग्राम लेना होता है ।

कुल मिलाकर पंचतिक्त घृत गुग्गुल में 33 प्रकार की औषधियां मिलाकर इस दवाई को तैयार किया जाता है । इस दवाई को बनाने के लिए मुख्य रूप से गुग्गुल का प्रयोग किया जाता है।  यह बहुत ही महत्वपूर्ण जड़ी-बूटी होती है, जिसको हम एक पेड़ की गोंद से बनाते हैं । गुग्गुल का उपयोग आयुर्वेद में बहुत सारी जड़ी बूटियों को बनाने के लिए किया जाता है,  गुग्गुल  एक प्रकार का दर्द निवारक , कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाली और सूजन निवारक जड़ी बूटी मानी जाती है, panchatikta ghrita guggulu uses in hindi उपयोग करने से हमारा वजन भी कम हो जाता है ।

 

panchatikta ghrita guggulu uses in hindi, पंचतिक्त घृत गुग्गुल  बनाने का तरीका –

panchatikta ghrita guggulu uses in hindi दवाई को बनाना बहुत ही आसान होता है , पंचतिक्त की पांच जड़ी बूटियों को मोटा-मोटा कूटकर 25 लीटर पानी में डाल कर गर्म करें।  जब पानी का एक चौथाई भाग बचे तब उसमें घी गुग्गुल को डालकर, घृत पाक विधि से पका कर उसे छानकर रख लिया जाता है,  यही पंचतिक्त घृत गुग्गुल बनाने की विधि है ।

 

guggulu tiktaka ghrita, पंचतिक्त घृत गुग्गुल के उपयोग –

1 ) panchatikta ghrita guggulu uses in hindi पंचतिक्त घृत गुग्गुल का उपयोग रक्त संबंधी बीमारियों के इलाज  में किया जाता है । यह खून को साफ करती है और खून में उपस्थित विषैले पदार्थों को बाहर कर देती है ।

2 ) यह दवाई हर तरह की स्किन डिसीज में  फोड़े, फुंसी , एग्जिमा , सोराइसिस , और कुष्ठ रोग में यह दवाई बहुत उपयोगी है ।

3 ) वात रक्त , बड़ा ही कष्टकारी रोग गठिया,  अर्थराइटिस , और जोड़ों के दर्द के नाम से जाना जाता है , इस रोग में भी यह दवाई बहुत असरदार साबित होती है यह जोड़ों के दर्द को जड़ से खत्म कर देती है ।

4 ) हर तरह के ट्यूमर , ग्लैंड जैसी बीमारियों के इलाज में भी इसका उपयोग किया जाता है ।

5 ) इसका लंबे समय तक उपयोग करने से बड़ी ~ बड़ी बीमारियां ठीक हो जाती हैं , यह बिल्कुल विश्वसनीय दवा है ।

6 ) पंचतिक्त घृत गुग्गुल का उपयोग स्किन संबंधी  सभी रोगों के इलाज के लिए किया जाता है।  जैसे दाद,  खाज , खुजली,  कील ,  मुंहासे सभी रोग इससे ठीक हो जाते हैं ।

7 ) panchatikta ghrita guggulu uses in hindi पाचन संबंधी बीमारियों में भी काफी लाभकारी होती है । यह हमारे पेट में होने वाले अपच को ठीक कर देती है ।

8 ) इस दवाई का उपयोग करने से हमारे घाव भी ठीक हो जाते हैं पुरानी से पुरानी चोट के घाव को यह दवाई भर देती है।

9 ) पंचतिक्त घृत गुग्गुल का उपयोग किडनी और लिवर संबंधी रोगों में भी किया जाता है।  यह किडनी और लीवर को स्वस्थ रखता है और ठीक से काम करता है ।

 

panchatikta guggulu ghrita, पंचतिक्त घृत गुग्गुल की मात्रा और सेवन विधि –

1- पंचतिक्त घृत गुग्गुल को 6 से 12 ग्राम रोज  दो टाइम लेना चाहिए खाना खाने के बाद इसका सेवन करें ।

2-आप इसका सेवन पानी या दूध दोनों के साथ कर सकते हैं।

3-आयुर्वेदिक डॉक्टर द्वारा जितनी मात्रा बताई गई है,  उसके अनुसार ही इसका सेवन करें उससे ज्यादा इसे ना लें ।

panchatikta guggulu ghrita uses, पंचतिक्त घृत गुग्गुल की सावधानियां –

 

1-इस औषधि का सेवन करते समय आपको ज्यादा मिर्च वाली चीजों का सेवन नहीं करना है , मसाले वाले खाना खाने से आप परहेज करें ।

2- इस औषधि का सेवन कोई भी कर सकता है,  यह एक आयुर्वेदिक दवा है । इसलिए बच्चे और बूढ़े भी इसका सेवन कर सकते हैं , यह सभी के लिए लाभदायक होती है ।

3- इस औषधि का सेवन किसी अच्छे डॉक्टर की देखरेख में ही करें ।

Note :

दोस्तों आज हमने आपको panchatikta ghrita guggulu benefits,panchatikta ghrita guggulu tablets uses,panchatikta ghrita guggulu tablets, के बारे में जानकारी दी अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो कृपया कमेंट सेक्शन पर अपना समर्थन दें और अगर आपको इसमें कुछ सुधार समझ आता है तो वह भी हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं हमारे अन्य ब्लॉक जानकारी चाइये तो हमारा ये ब्लॉग फॉलो करे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.