kuposhan kya hai

kuposhan kya hai कुपोषण क्या है  –

 

kuposhan kya hai आहार में एक अथवा अधिक पोषक तत्वों की कमी को पोषण बन जाती है अपर्याप्त व त्रुटि पूर्ण भोजन वह भोजन है, जिसमें सभी पोषक तत्व उचित अनुपात मैं नहीं होते हैं। ऐसे भोजन को त्रुटि पूर्ण आहार कहते हैं ,क्योंकि इसमें सभी पोषक तत्व शामिल नहीं हैं जिसकी वजह से हमें कुपोषण हो जाता है । हमारे शरीर के लिए सभी पोषक तत्व बहुत जरूरी होते हैं ,जैसे ही किसी एक भी पोषक तत्व कि हमारे शरीर में कमी हो जाती है ,तो हमें कुपोषण हो जाता है और कुपोषण बहुत ही भयानक बीमारी होती है यह हमें शुरू से लेकर अंत तक रहती ही है ।भारत में अभी तक इस बीमारी का कोई भी इलाज नहीं खोजा गया है, लेकिन फिर भी कुपोषण की दो बूंद दवा दी जाती है जिसकी वजह से भारत में अब कुपोषण बहुत कम हो गया है।

kuposhan kise kahate hain,पोषक तत्व –

kuposhan kya hai हमारे शरीर में जिन पोषक तत्वों की जरूरत होती है, वह कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन ,वसा ,विटामिन तथा खनिज लवण आदि। अगर इन सभी पोषक तत्वों में किसी एक भी पोषक तत्व की कमी हो जाती है, तो हमें निश्चित ही कुपोषण हो जाता है। इसलिए अगर आप इन सभी पोषक तत्वों में से किसी एक भी पोषक तत्व का अच्छे से आहार नहीं ले रहे हैं, तो आपको जल्दी ही ध्यान देने की जरूरत है।

अपर्याप्त और त्रुटि पूर्ण भोजन करने से हमारे शरीर में दो प्रकार के लक्षण देखने को मिलते हैं। पहला शारीरिक शीथीलता और दूसरी मानसिक शिथिलता ।

1) शारीरिक शिथिलता – kuposhan kya hai जब किसी व्यक्ति को आपर्याप्त भोजन मिलेगा तो उसका शरीर दुर्बल हो जाएगा। शरीर में गठान बनने लगेंगी और शरीर का भार ज्यादा हो जाएगा और कद में असंतुलन हो जाएगा ,मांसपेशियां कमजोर हो जाएंगी, त्वचा के नीचे चर्बी की कमी हो जाएगी तथा त्वचा रूखी सूखी पीली बा कांति हीन हो जाती है।

2) मानसिक शिथिलता~ त्रुटिपूर्ण वा अपर्याप्त भोजन करने से व्यवहार में चंचलता आ जाती है और व्यक्ति की एकाग्रता में कमी आ जाती है ।पढ़ाई में भी कमजोर हो जाते हैं, मांसपेशियों पर ठीक से नियंत्रण नहीं रहता है , और हमारी तंत्रिका शिथिल होने लगती हैं ।

kuposhan kya hai कुपोषण से पीड़ित बच्चों को भूख कम लगती है तथा उनकी पाचन शक्ति बिल्कुल कमजोर हो जाती है । उनमें रोगों से लड़ने की क्षमता भी कम हो जाती है ,जिससे बच्चे आसानी से किसी भी रोग की पकड़ में आ जाते हैं। ऐसे बच्चे स्कूल में और घर पर भी सामाजिक रूप से एक समस्या बन जाते हैं।

 

kuposhan kya hai, आप पर्याप्त भोजन के कारण होने वाले रोग –

1) kuposhan kya hota hai, प्रोटीन कैलोरी कुपोषण –

kuposhan kya hai बच्चों के शरीर का लगातार विकास होता रहता है तथा उनकी कैलोरी तथा प्रोटीन की आवश्यकता भी बराबर बढ़ती रहती है। इस प्रकार के कुपोषण का प्रभाव 1 से 4 वर्ष के बच्चों में सबसे अधिक होता हैं। जब बच्चों के शरीर में प्रोटीन, कैलोरी कुपोषण रोग होता है तो उनको क्वशारकोर और मैरेस्मस रोग होते।

1- क्वशारकोर रोग – यह रोग हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी के कारण होता है । जिन बच्चों को यह रोग होता है, उन बच्चों में भूख कम, अतिसार, शरीर में सूजन ,चिड़चिड़ापन , उदासी, बाल सूखे तथा चमक रहित ,त्वचा पीली, शुष्क और कांति हीन हो जाती हैं।

2- मैरेस्मस रोग- इस रोग को सुखा रोग भी कहते है, यह रोग भोजन में प्रोटीन तथा कैलोरी दोनों की कमी के कारण होता है ।इस रोग में शरीर सूज कर फूलने के बजाय सूखकर छोटा हो जाता है । इसके साथ-साथ चेहरा दुर्बल ,आंखें कांति हीन, शरीर कमजोर व दुबला पतला, त्वचा पर झुर्रियां पड़ जाती हैं।  इसका मुख्य कारण बहुत कम समय के लिए माता का दूध मिलना है ।

 

kuposhan ke karan,पाचन तंत्र के विकार व अनियमितताएं –

1 ) उल्टी या वमन~ kuposhan kya hai यह अमाशय में संग्रहित पदार्थों के मुख से बाहर निकलने की प्रक्रिया है ।यह प्रतिवर्ती क्रिया मेडयुला में स्थित बमन केंद्र द्वारा नियंत्रित होती है । कई बार उल्टी आने से पहले बेचैनी होने लगती है। इस प्रक्रिया को ही उल्टी या वमन कहा जाता है।

2) अपच~ kuposhan kya hai भोजन का पाचन अच्छे से नहीं हो पाता है ,पेट भरा सा लगता है यह समस्या हमें बहुत ज्यादा मसाले वाला खाना खाने से और तेल वाला खाना खाने से , खट्टा भोजन करने से भी यह समस्या होती हैं।

3 ) कब्ज – कब्ज में मलाशय में मल रुक जाता है। आंत द्वारा सारे जल का अवशोषण होने से मल अत्यंत कठोर हो जाता है । आंत की गतिशीलता अनियमित हो जाती है।

kuposhan kya hai यह सभी समस्याएं जो इस लेख में बताई गई है ,वह सभी कुपोषण का कारण है। इसलिए आप सभी को अपने उचित खान-पान पर ध्यान देना चाहिए।”

Note –

दोस्तों आज हमने आपको kuposhan kya hai iske kya karan hai, kuposhan ke karan bataiye, kuposhan se aap kya samajhte hain, के बारे में जानकारी दी अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो कृपया कमेंट सेक्शन पर अपना समर्थन दें और अगर आपको इसमें कुछ सुधार समझ आता है तो वह भी हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं हमारे अन्य ब्लॉक जानकारी चाइये तो हमारा ये ब्लॉग फॉलो करे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *