Kandhe Ka Dard Ki Dawa Homeopathic : कंधों में दर्द की होम्योपैथिक दवाई

Kandhe Ka Dardदोस्तों कंधों का ना मोड़ पाना और कंधों को मोड़ने में तकलीफ होंना दर्द होना और जकड़न महसूस होने को हम frozen shoulder कहते है। दोस्तों, जो हमारे कंधो का joint होता है वह एक socket joint होता है। यह socket joint के कारण ही हम अपने कंधो का movement करा पाते हैं। Kandhe Ka Dard

दोस्तों जो कंधों में ligament होते है ओर बहुत सारे tendons होते है। दोस्तो ligament वह होते है तो जो एक bone को दूसरी bone से जोड़ते है ओर tendons वह होते है जो मांसपेशियों को bone से जुड़े रखते हैं उसको हम tendons कहते है। तो दोस्तो हमारे कंधो में बहुत से ligament ओर tendons होते है इन्ही के आधार पर हमारे कंधे काम करते रहते है।Kandhe Ka Dard

Kandhe Ka Dard Ki Dawa Homeopathic : कंधों में दर्द की होम्योपैथिक दवाई

तो अगर कभी इन tendon या ligament में infilamation हो जाये या सूजन हो जाये तो हम अपने कंधे को अच्छे से नही घूमा पाते इस परिस्थिति को हम frozen shoulder भी कहते है।Kandhe Ka Dard

 

Kandhe Ka Dard Ki Dawa Homeopathic कंधों में दर्द की होम्योपैथिक दवाइयां –

Kandhe Ka Dard दोस्तों नीचे हम कुछ होम्योपैथिक दवाइयां पटा रहे हैं जिनके लक्षणों के आधार से आप कंधों के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं तो चलिए जानते हैं वह दवाइयां कौन सी है? Kandhe Ka Dard

 

1- रक्स-टॉक्स (rhus-tox) 30,200 –

a- यह दवा बाएं कंधे के दर्द में विशेष रूप से उपयोगी है।

b- कंधों और कमर में दर्द ऐसा हो रहा हो जैसे मोच आने पर होता है।

c- कंधोंमें दर्द जैसे वहां पर कोई वजन रखा हुआ हो।

d- लगातार हरकत करने रहने से और फेंकने से दर्द में आराम आता है।Kandhe Ka Dard

 

दवाई कैसे लेना है-

दिन में दो या तीन बार ले।

 

2- चेलिडोनिम (chelidonium) 30 – 

a- दाहिने कंधे के जोड़, scapula के नीचे तेज दर्द होता है।

b- कंधों में वात का दर्द फाडने जैसा दर्द जो हाथ को हिलाने से बढ़ जाता है।

c- कंधो में खीचने जैसा दर्द (drawing pain) जो कलाई तक जा पहुचता हो।

 

दवाई कैसे लेना है-

दिन में दो या तीन बार ले। 

 

3- संगुनेरिया कैन. (Sanguinaria can) 30 – 

a- दाहिने कंधे और बांह में वात का दर्द।

b- रात में बिस्तर में करवट लेने पर बढ़ता है।

c- हाथ उठाया नहीं जा सकता।

d- जरा सी हरकत करने से दर्द बढ़ जाता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में दो या तीन बार ले।

 

4- ब्रायोनिया (bryonia) 30, 200 –

a- दाहिने कंधे में चुभने जैसा दर्द ओर जो हिलने डुलने से बढ़ जाता है।

b- कंधे और बाहं में फाड़ने जैसा दर्द।

c- मामूली सी हरकत से दर्द बढ़ता है और दबा कर रखने से चुपचाप लेटे रहने से दर्द में आराम मिलता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में दो या तीन बार ले।

 

5- फेरम मेटालिकम (ferrum metallicum) 6 –

a- कंधों में तेज दर्द होता है।

b- दर्द की वजह से हाथ ऊपर नहीं उठ सकता।Kandhe Ka Dard

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में दो या तीन बार ले।

 

6- काली कार्ब (kali-carb) 30 –

a- बाए कंधे में तेज दर्द होता हो।

b- हाथी हिलाने डुलाने से दर्द बढ़ता है दाहिनी हँसुली (clavicle) में सुई चुभने जैसा या फाड़ने जैसा दर्द, जो छाती तक जा पहुंचता है।

c-  कंधे के जोड़ में सुई चुभने जैसा दर्द होता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में दो या तीन बार ले।

 

7- रोडोडेंड्रन 30 (Rhododendron) 30 –

a- दाहिने कंधे में वात का दर्द, जो कोहनी तक जा पहुंचता है।

b- कंधे की मांसपेशियों (uscles) में तेज दर्द होता है।

c- हाथ को हिलाने पर कंधे में जोरदार दर्द होता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में दो या तीन बार ले।

 

8- जेल्सीमियम (gelsemium) 30 –

a- रात के समय कंधों में दर्द होता है।

b- कंधे और बाई हँसुली (clavicle) में दर्द होता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में दो या तीन बार ले।

 

9- लाइकोपोडियम (Lycopodium) 30 –

a- दाहिने कंधे के जोड़ में बात का दर्द।

b- आराम करते समय कंधे और कोहनी के जोड़ में पालने जैसा दर्द।

c- दाए कंधे में दर्द गर्म चीज से सेकने से और दर्द वाली करवट लेटने में आराम मिलता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में दो या तीन बार ले।

 

10- गुआईकम (Guaicum) 30 –

a- बाए कंधे में दर्द जो कलाई तक जाता है।

b- हिलने डुलने से दर्द बढ़ता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में दो या तीन बार ले।Kandhe Ka Dard

 

Kandhe Ka Dard  कंधो के दर्द की बायोकेमिक दवाईया

1- फेरम फोस्फोरिक (ferrum phosphoricum) 6x, 12x-

a- दाहिने कंधे के जोड़ में दर्द होता है।

b- हिलने-डुलने से आराम आता हो।

 

दवाई कैसे लेना है –

 

दिन में तीन बार ले।

 

2- कालियम मुरियाटिकम 

(kalium muriaticum) 6x, 12x –

a- दाहिने कंधे के जोड़ में दर्द होता है।

b- कंधे पर मामूली कपड़ा भी सहन नहीं होता है।

c- कंधे में लगातार दबाने (pressing) वाला दर्द होता है।

d- हाथ ऊपर उठाने पर दर्द बढ़ जाता है, दर्द वाली करवट लेता नहीं जाता।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में तीन बार ले।

 

3- कैलकेरिया फोस्फरिका

 (Calcarea phosphorica) 6x –

a- कंधो में दर्द जो ठंड से बढ़ता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में तीन बार ले।

 

4- नैट्रम मुरियाटिकम (natrum muriaticum) 6x, 12x –

a- कंधों में विशेषकर बाएं कंधे में दर्द जो हिलने डुलने विशेषकर हाथ फैलाने पर पड़ता है।

 

दवाई कैसे लेना है –

दिन में तीन बार ले।

 

Daad Ke Liye Homeopathic Dawa के बारे में जानकारी के लिए यह लेख पढ़ें.

Chehera Gora karne Ki Tips In Hindi के बारे में जानकारी के लिए यह लेख पढ़ें

Dream11 के बारे में जानकारी के लिए यह लेख पढ़ें

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.