Haklana Kaise Dur Kare तुतलाना कैसे दूर करे

Haklana Kaise Dur Kare दोस्तों तुतलाने या हकलाने की समस्या 2 से 7 वर्ष के बच्चों को होती है और शुरू-शुरू में तो बच्चे अपने माता-पिता के ध्यान को केंद्रित करने के लिए करते है और इस पर माता-पिता भी ध्यान नही देते है। वह विकास या बालपन समझ कर छोड़ देते है। लेकिन धीरे-धीरे यही समस्या बहुत बड़ी परेशानी का कारण बन जाती है। तुतलाना या Haklana Kaise Dur Kare शारारिक नही एक मानशिक समस्या है।

Haklana Kaise Dur Kare – Haklane Ki Dawa तुतलाना कैसे दूर करे

Haklana Kaise Dur Kare

तुतलाना कैसे दूर करे

Haklana Kaise Dur Kare या हकलाने वाले बच्चों का स्वर तंत्र खराब नही होता है लेकिन जब उनकी जब आदत हो जाती है तो वह डर के कारण हकलाने या तुतलाने लगते है। वैसे हकलाने या तुतलाने वाले बच्चे आम बच्चों के मुकाबले काफी होशियार रहते है। आम बच्चो से इनका दिमाग काफी होशियार रहता है। अगर आप Haklana Kaise Dur Kare की समस्या से निजात दिलाना चाहते है तो आप होम्योपैथिक दवाइयों का सहारा ले सकते हैं।

Also See : Hastmaithun Ke Nuksan हस्तमैथुन (Masturbation) होम्योपैथिक दवाइयां

 

तुतलाने की होम्योपैथीक दवाइयां – Haklana tutlana treatment

 

1- स्ट्रेंमोनीयम (Stremonium) 30, 200 –

Haklana Kaise Dur Kare या हकलाने की यह प्रमुख दवा है। बच्चो को बोलने के लिए काफी देर तक कोशिश करनी पड़ती है। इस दवा को दो- तीन महीनों तक दिन में दो बार ले। सुधार दिखाई न देने पर 200 शक्ति की एक-एक खुराक हर हफ्ते ले। सालभर या उससे भी ज्यादा समय तक दवा देने से लाभ होता है।

 

2- लैकेसिस (Lachesis) 200 –

बच्चा जब किसी खास अक्षर पर टाकने लगे तो यह दवा लाभ पहुंचाती है। जैसे अ (A), प (P), स (S), ट ( T) या य (V)।

 

3- बोविस्टा (Bovista) 30 –

बच्चा पढ़ते समय हकलाए तो इस दवा की देना चाहिए। इस बच्चे के हाथ से सामान अक्सर छूट कर गिर जाता है। उसके कौग के पसीने से प्याज की गंध आती है।

 

4- काली बोमेटम (Kali bromatum) 30, 200 : बच्चा धीरे धीरे बोलता है। बोलने में उसे काफी तक्लीफ होती है। मिर्गी के बाद तुतलाने की बीमारी हुई हो तो यह दवा उपयोगी सिद्ध होगी। 

 

5- सिकुटा (Cicuta) 6, 30 –

बच्चा बात करते समय बीच के कुछ शब्द बोल न पाए तो इस दवा से लाभ होगा।

 

6- बुफो राना (Bufo rana) 30 –

मानसिक तौर पर पिछड़े हुए, धोखेचार और विनाशकारी, जिनकी स्मरण शक्ति बहुत कमजोर हो उन बच्चों के रुक-रुककर बोलने में यह दवा लाभदायक है।

 

7- हायोसायमस (Hyoscyamus) 30 –

स्ट्रामोनियम (Stramonium) में फायदा न होने पर इस दवा को कुछ महीनों तक दिन में दो बार दें। 

 

8- लाइकोपोडियम (Lycopodium) 200 –

बच्चा वाक्य के आवरा शब्द पर हकलाता हो तो हर हफ्ते एक-एक खुराक कुछ महीनों तक दें। 

 

9- नैट्रम कार्ब. (Natrum carb.) 30 –

जवान के भारीपन के कार बच्चा हकलाए तो दिन में दो बार इस दवा को देने से लाभ होता है।

 

10- कॉस्टिकम (Causticum) 6,30 –

बच्चों में हकलाने की आदत। उत्तेजना (excitement) परेशानी (vexation) के कारण बच्चों और बड़ों के हकलाने में यह दवा उपयोगी है। जबान और होठ के आंशिक लकवे (pretic) के कारण हकलाने में यह दवा उपयोगी है इस दवा का उपयोग 6 या 30 शक्ति में दिन में दो बार करें।

 

11- कपरम मेट (Cuprum Met) 6, 30 –

जबान के लगवे की वजह से रोगी बोल नहीं पाता है। जबान का सूखापन जिसकी वजह से रोगी को बोलने में परेशानी होती है। इस दवा की 6 या 30 शक्ति दिन में दो बार करें।

 

12- ओपीयम (Opium) 6, 30 –

मुँह सूखा। जवान काली, लकवा ग्रस्त होने के कारण जवान दाहिनी तरफ खिंच जाती है जिसकी वजह से रोगी थीक तरह से बोल नहीं पाता है। इस दवा की 6 या 30 शक्ति दिन में दो बार ले।

 

13- मेरक्यूरियस (Mercurius) 6, 30 –

रोगी जल्दी-जल्दी, हकलाकर बोलता है। इस दवा की 6 या 30 व्यक्ति दिन में दो बार ले।

 

14- स्पाईजेलिया (Spigelia) 6, 30 –

बबच्चा अगर शब्द का पहला अक्षर तीन चार बार दोहराता हो तो यह दवा की 6 या 30 शक्ति दिन में दो बार ले।

 

15- ऐनाकार्डियम (Anacardium) 6, 30 –

जवान के भारीपन के कारण कुछ खास शब्दों को बोल ना पाने पर यह दवा उपयोगी है। इस दवा की 6 या 30 शक्ति दिन में दो बार ले।

 

Note : Haklana Kaise Dur Kare

दोस्तों आज हमने आपको Haklana Kaise Dur Kare के बारे में बताएं Haklane Ki Dawa के बारे में जानकारी दी अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो कृपया कमेंट सेक्शन पर अपना समर्थन दें और अगर आपको इसमें कुछ सुधार समझ आता है तो वह भी हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं हमारे अन्य ब्लॉक जिसमें Bollywood के बारे में जानकारी दी है उसकी link लिंक यह है !

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.