Eupatorium Perfoliatum In Hindi

Eupatorium Perfoliatum In Hindi  दोस्तो, Eupatorium Perfoliatum एक प्लांट किंडम की दवाई है। इसका प्लांट नार्थ अमेरिका और कनाडा में मिलता है जिससे यह दवाई बनती है। मलेरिया, इन्फ्लूएंजा या किसी अन्य प्रकार का बुखार, शरीर मे हड्डी तोड़ दर्द, सिर दर्द, कमर में ऐंठन, पित्त इत्यादि में इससे लाभ मिलता है।

Eupatorium Perfoliatum In Hindi – Eupatorium Perfoliatum इन हिंदी

Eupatorium Perfoliatum In Hindi

Eupatorium Perfoliatum इन हिंदी

Constitution इन हिंदी   

यह बूढे लोगो की, नशा करने वाले, दुबले-पतले लोग या जिन्हें लंबे समय से बुखार रहा हो ऐसे लोगो को यह दवा सूट करती है।

 

शरीर मे Eupatorium Perfoliatum के प्रभाव – Eupatorium perfoliatum homeopathy

1- यह दवाई मांसपेशियों, हड्डियों के दर्द को ठीक करती है, यदि यह दर्द किसी भी प्रकार के बुखार के कारण हो तो यह दवाई दर्द के साथ बुखार को भी ठीक कर करती है।

2- यह दवाई लिवर पर प्रभाव डालती है, किसी बीमारी के कारण जब लिवर में सूजन आती है तो यह दवाई उसे ठीक करती है।

3- बुखार के कारण फेफड़ो में सुजन आ जाती है, फेफड़ो में कफ बनने लगता है तो यह दवाई बुखार के साथ फेफड़ो के सूजन और कफ को भी ठीक करती हैं पुरानी खाँसी, हेक्टिक ज्वर के साथ छाती ढीली श्लेष्मा ओर दर्द, रोगी के हाथ से हमेशा छाती पर हाथ रखने जैसे लक्षण पर भी यह दवा असर करती है।

Also See : Damiaplant Drops Benefits In Hindi डॉमिया प्लांट ड्रॉप बेनेफिट्स के फायदे 

 

कौन-कौन से लक्षणों में Eupatorium Perfoliatum लेना चाहिए –

1- सिर दर्द अधिक होने पर, आंखे लाल होने पर दर्द एकाएक पैदा होने पर और एकाएक चला जाना, ऐसे लक्षणों में भी लाभ देता है।

2- बुखार के साथ सिर दर्द और चक्कर आना, बुखार आने पर होठो के कोनो में फोड़े हो जाना, बार-बार प्यास लगना।

3- लिवर में सूजन हो जाना, पित्ती की उल्टी होना, सर्दी जुकाम और फेफड़ो में कफ जमा होने के कारण खाँसी आना, किसी भी प्रकार के बुखार होने के दौरान बदन दर्द होना, सिरदर्द बने रहना।

4- मलेरिया, वायरल बुखार, डेंगू, चिकनगुनिया आदि कई बीमारियों में जो बुखार होता है और बुखार के कारण जो समस्या होती है। उन सब मे यह दवा लाभदायक है जैसे कमर दर्द, हाथ-पैर में दर्द होना, जोड़ो में दर्द होना इत्यादी हर दर्द में लाभ देती है।

 

Eupatorium Perfoliatum को इस्तेमाल करने के विधि –

1-Eupatorium Perfoliatum In Hindi रोगों से बचाव के लिए बहुत ही फायदेमंद ही दवाई है। इसके सेवन से डेंगू, चिकनगुनिया नही होता है। Eupatorium Perfoliatum 200 CH में लेना है। इसकी दो बूंद रोज सुबह पीना है जब तक आस पास चिकनगुनिया, डेंगू आदि बीमारिया फैली हुई है।

2- अगर आस- पास कुछ मरीज है चिकनगुनिया या डेंगू के तो आप हफ्ते में एक दिन रविवार को इसकी दो बूंद पिये। इसके कोई side effect नही है। करीब तीन से चार हफ्ते ऐसा करे ताकि आपको इसका संक्रमण नही हो।

3- यदि आपको डेंगू, चिकनगुनिया, वायरल बुखार या किसी भी प्रकार का बुखार हो गया है तो Eupatorium Perfoliatum In HindiEupatorium Perfoliatum 30 CH की दो बूंद हर दो घंटे से पीनी चाहिए। जब तक बुखार उतर नही जाए, उसके पश्चात इसकी दो-दो बूंद दिन में तीन बार पिए। एक सफ्ताह तक इसका सेवन करने से चिंगुनिया और डेंगू का बुखार अच्छे से उतर जाता है।

4- यदि आपको बुखार के साथ सर्दी, खाँसी की समस्या है तो Eupatorium Perfoliatum 30 CH की दो-दो बूंद दिन में तीन बार पिये।

5- यदि आपका लिवर बढ़ गया है, उसमे सूजन आ गयी है या बुखार के कारण पित्त की समस्या है तो Eupatorium Perfoliatum 30 में दो-दो बूंद दिन में तीन बार पिये, इसका सेवन एक सफ्ताह तक करे।

6- यदि आपको पहले कभी चिंगुनिया हुआ हो, तो दर्द अभी तक बना रहे तो Eupatorium Perfoliatum In Hindi 200 शक्ति में दो-दो बूंद हफ्ते में एक से दो बार पिये। इसका सेवन एक महीने तक करे।

 

Note : Eupatorium Perfoliatum In Hindi

दोस्तों आज हमने आपको Eupatorium Perfoliatum In Hindi के बारे में बताएं Eupatorium Perfoliatum के बारे में जानकारी दी अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो कृपया कमेंट सेक्शन पर अपना समर्थन दें और अगर आपको इसमें कुछ सुधार समझ आता है तो वह भी हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं हमारे अन्य ब्लॉक जिसमें Bollywood के बारे में जानकारी दी है उसकी link लिंक यह है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *