Bedwetting Treatment At Home बिस्तर में पेशाब करना

Bedwetting Treatment At Home बिस्तर गीला करना एक आम सी समस्या बन गयी है। यह समस्या बड़ो या बच्चों किसी को भी ही सकती है। बच्चों को तो ऐसा नही करने की शिक्षा भी दी जाती है पर वह फिर भी बिस्तर गीला कर ही देते है। कई वयस्क लोग भी बिस्तर में पेशाब कर देते है। इसके कई कारण हो सकते है। जिनमे बुरे सपने आना प्रमुख कारण है। बिस्तर पर पेशाब कर देना काफी शर्मनाक बात होती है। तो इसलिए आज हम आपको होम्योपैथिक दवाइयों के द्वारा इस परेशानी से छुटकारा दिलाने में मदद करेंगे।

Bedwetting Treatment At Home बिस्तर में पेशाब करना

 

बिस्तर में पेशाब करने की होम्योपैथिक दवाइयां – Bedwetting Treatment At Home Homeopathy 

दोस्तों अगर आप या आपका बच्चे को बिस्तर में पेशाब करने की समस्या है तो आप नीचे दिए गए होम्योपैथिक दवाइयों के लक्षणों के आधार पर आप होम्योपैथिक दवाइयों का सेवन कर सकते हैं। चलिए तो जान लेते हैं वह होम्योपैथिक दवाइयां कौन-कौन सी है।

Also See: Pathri Ki Dawa पथरी की होम्योपैथिक दवा

1- क्रिओजोटम (Kreosotum) 30 –

बच्चों या युवकों को पहली ही नींद में पेशाब हो जाता है। वे यह सपना देखते हैं कि ‘टॉयलेट’ में बैठकर पेशाब कर रहे हैं, लेकिन असलियत यह होती है कि उन्होंने बिस्तर पर पेशाब कर रहे होते हैं। बिस्तर में पेशाब करते ही वे जाग जाते हैं, लेकिन कुछ बच्चों को नींद से जगाया नहीं जा सकता। सुबह जागने के बाद ही उन्हें पता चलता है कि उन्हें बिस्तर में पेशाब हो गया था। Bedwetting Treatment At Home

 

2- कास्टिकम (Causticum) 30 –

जिन बच्चों को पहली नींद में बिस्तर में पेशाब हो जाता है, उनके लिए यह दवा लाभदायक है। इन्हें पता ही नहीं चलता कि उन्होंने नींद में पेशाब कर दिया है। वे सुबह होने तक गहरी नींद में सोये रहते हैं। 

 

3- सीपिया (Sepia) 200 –

बच्चे, खासकर लड़कियाँ, पहली नींद में ही बिस्तर भिगो देती हैं। पेशाब बदबूदार होता है। जिन बच्चों को इस दवा की जूरूरत होती है वे हर वक्त उदास रहते हैं, खेलकूद वगैरह में हिस्सा नहीं लेते, अकेला रहना पसंद करते हैं, दूध से नफरत होती है। इन बच्चों के भी पहली नींद में ही पेशाब हो जाता है।

 

4- बेलाडोना (Belladonna) 30, 200 –

 गहरी नींद में बच्चे बिस्तर भिगो देते हैं। इन्हें पता ही नहीं चलता। इन्हें नींद से जगाया नहीं जा सकता। 

 

5- अर्जेन्टम नाइट्रिकम (Argentum nitricum) –

जल्द घबरा जाने वाले, जिनमें आत्मविश्वास की कमी होती है, जो मीठी चीजें पसंद करते हैं – उनके नींद में पेशाब करने की बीमारी में यह दवा लाभदायक है।

 

6- पल्सेटिला (Pulsatilla) –

कोमल स्वभाव वाले, शर्मा भावुक पोक, आसानी से रो देने वाले, आसानी से मान जाने वाले, ऊष्ण प्रकृति (hot) के बच्चों के बिस्तर में पेशाब करने में यह दवा लाभ पहुंचाती है। 

 

7- सिना (Cina) 30 –

 जिन बच्चों के पेट में कृमि (worm) होते हैं, उनके बिस्तर भिगो देने की बीमारी में यह दवा लाभदायक है। यह चच्चे बेहद चिड़चिड़े हैं, नींद में दाँत पीसते हैं, हर वक्त नाक में उंगली घुसेड़कर कुरेदा करते हैं, हर वक्त भूख-भूख चिल्लाया करते हैं। कुछ देर रखा रहने के बाद इन बच्चों का पेशाब दूध की तरह सफेद हो जाता है।

 

8- एक्वीसीटम (Equisetum) 6, 30 :

चाहे दिन हो या रात इन बच्चों को विस्तर में पेशाब करने की आदत पड़ चुका होती है। दिन में भी इन बच्चों को। हर वक्त पेशाब करने की इच्छा बनी रहती है।

 

9- लाइकोपोडियम (Lycopodium) 200 – 

जिन बच्चों के पेशाब में लाल रेत होती है, उनके बिस्तर में पेशाब करने की आदत में यह दवा उपयोगी है। यह बच्चे तानाशाही (domineering) स्वभाव के और झगड़ालू होते हैं। इन्हें मीठी और गर्म चीजें पसंद होती हैं। हर हफ्ते एक खुराक ले।

 

10 -फास्फोरस (Phosphorus) 200 –

कोमल स्वभाव के, दुबले-पतले और बहुत जल्द लम्बाई में बढ़ रहे बच्चे, जिन्हें नमक और ठंडी चौजें येहद पसंद होती हैं, उनके बिस्तर भिगो देने की बीमारी में यह दवा लाभ करती है। हर पंद्रह दिन में सिर्फ एक खुराक ले।

 

11- बेरायटा कार्ब. (Baryta carb.) 200 –

शारीरिक और मानसिक तौर पर पड़े हुए बच्चे, जिनका सर्वांगीण विकास (all round development) रुक गया है, जिनमें कल्पनाशक्ति की कमी होती है, जो किसी तरह का रचनात्मक कार्य (constructive work) नहीं कर सकते – ऐसे बच्चों के बिस्तर में पेशाब करने की आदत को यह दवा गुड़ाती है। हर पंद्रह दिन में एक खुराक ले।

 

12- कैल्केरिया कार्ब. (Calcaria carb.) 200 –

 मोटे, धुल चुके बच्चे जिनके दाँत देर से निकलते हैं, जो चलना देर से सीखाते हैं, जिनके सिर पर पसीना बहुत आता है, जो अंडा, नमक, मिठाई और आईस्क्रीम खाना पसंद करते है, जोडरपोक स्वभाव के होते हैं, जो शीत प्रकृति (chilly) के होते हैं – उनके विस्तर में पेशाब कर देने में उपयोगी है। हर पंद्रह दिन में एक खुराक दें। Bedwetting Treatment At Home

 

Note : Bedwetting Treatment At Home

दोस्तों आज हमने आपको Bedwetting Treatment At Home के बारे में बताएं Bedwetting Treatment At Home Homeopathy  के बारे में जानकारी दी अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो कृपया कमेंट सेक्शन पर अपना समर्थन दें और अगर आपको इसमें कुछ सुधार समझ आता है तो वह भी हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं हमारे अन्य ब्लॉक जिसमें Beautytips In Hindi के बारे में जानकारी दी है उसकी link लिंक यह है !

Updated: August 14, 2020 — 2:23 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.